भारत-चीन विवाद: चीन दे रहा है अटल टनल को बर्बाद करने की धमकी

चीन के सरकारी भोंपू ग्लोबल टाइम्स ने इशारों ही इशारों में धमकी दी है कि अगर भारत और चीन के बीच युद्ध हुआ तो चीनी सेना भारत की हाल ही में शुरू की गई अटल टनल को बर्बाद कर देगी। चीनी अखबार ने एक विशेषज्ञ के हवाले से आरोप लगाया कि यह भारतीय इलाका बहुत कम आबादी वाला है और इस सुरंग का मकसद केवल सैनिक उद्देश्यों की पूर्ति करना है। हालांकि चीनी विशेषज्ञ ने यह भी माना कि इस सुरंग से शांति के समय में भारतीय सैनिकों की आपूर्ति में बड़ी मदद मिलेगी। चीनी विशेषज्ञ ने ग्लोबल टाइम्स में लिखा कि अटल सुरंग का युद्ध के समय कोई फायदा नहीं होगा।
चीन की सेना के पास ऐसे साधन हैं, जिनसे इस सुरंग को बेकार बनाया जा सकेगा। भारत को संयम बरतना चाहिए और उकसावे से बचना चाहिए, क्योंकि कोई भी ऐसा रास्ता नहीं बचेगा, जो भारत की रणनीतिक क्षमता को बढ़ाए। वह भी तब जब चीन और भारत की सैन्य तैयारी में बड़ा अंतर है। व्यवस्थित लड़ाई की क्षमता में भारत चीन से बहुत पीछे है। बता दें कि शनिवार को पीएम मोदी ने हिमाचल प्रदेश में दुनिया की सबसे लंबी सुरंग अटल टनल का उद्घाटन किया था। उद्घाटन के बाद पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि अटल टनल लेह-लद्दाख की लाइफलाइन बनेगा। इस टनल से मनाली और केलांग के बीच की दूरी तीन-चार घंटे कम हो जाएगी। बता दें कि पहाड़ काटकर बनाई गई अटल सुरंग से मनाली से लेह के बीच यात्रा सुगम होगी।
17 नवंबर को आमने-सामने होंगे मोदी-जिनपिंग
सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच अगले महीने मुलाकात होने जा रही है। हालांकि कोरोना काल के चलते यह मुलाकात वर्चुअल ही होगी। सूत्रों के अनुसार दोनों देशों के नेता 17 नवंबर को ब्रिक्स सम्मिट के दौरान बातचीत कर सकते हैं। इसके तुरंत बाद 20-21 नवंबर को जी-20 सम्मिट में भी दोनों देशों के प्रमुख आमने-सामने होंगे, जिसका आयोजन सऊदी अरब कर रहा है। यह बैठक भी वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से ही होगी। इसके ठीक बाद एक और मुलाकात एससीओ सम्मिट में दोनों देशों के प्रमुख आमने-सामने आ सकते हैं। हालांकि इसके भी वर्चुअल तरीके से ही होने की संभावना है।