केजरीवाल सरकार का अहम फैसला, पटाखे चलाने पर पूरी तरह से रोक

बढ़ते प्रदूषण के बीच केजरीवाल सरकार ने अहम फैसला लेते हुए दिल्ली में पटाखे चलाने पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। सरकार ने इस बार ग्रीन पटाखों को भी बैन कर दिया है। इससे पहले ग्रीन पटाखे फोड़ने की अनुमति दी गई थी। बता दें कि बढ़ते प्रदूषण और कोरोना को लेकर दिल्ली सरकार ने गुरुवार को बैठक बुलाई थी, जिसमें स्वास्थ्य अधिकारी और सभी डीएम भी थे। त्योहारों के कारण भीड़ और प्रदूषण के चलते कोरोना वायरस का खतरा बढ़ रहा है। दिल्ली के निजी अस्पतालों में कोविड-19 बेड रिजर्व रखने के आदेश को हाई कोर्ट द्वारा खारिज किए जाने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने का फैसला लिया गया। दिल्ली में टारगेट टेस्टिंग भी बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। बैठक में सबसे महत्त्वपूर्ण फैसला पटाखों को लेकर लिया गया।
दिल्ली इस वक्त दोहरे खतरे से गुजर रही है। राजधानी के आसमान में छाए जहरीले धुएं ने दिल्ली को गैस चैंबर में तब्दील कर दिया है। खतरनाक स्तर पर पहुंच चुके प्रदूषण के कारण दिल्ली-एनसीआर में विजिबिलिटी घट कर 500 मीटर रह गई है। इससे पहले की हालात और खराब हों, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वालों से अपील की थी कि दिवाली पर आतिशबाजी न करें, लेकिन अब उन्होंने कड़ा फैसला लेते हुए पटाखे जलाने पर रोक लगा दी है।