हिमाचल : आईटीआई में सिखाई जाएगी महिलाओं को ड्राइविंग

हिमाचल में कंडम हो चुकी सरकारी गाड़ियों को अब बेचने की जगह आईटीआई को देकर ड्राइविंग स्कूल खोले जाएंगे। कैबिनेट बैठक में जल शक्ति, स्वास्थ्य, पीडब्ल्यूडी और शिक्षा विभाग की कंडम गाड़ियां तकनीकी शिक्षा विभाग को देने का फैसला लिया गया है। इन गाड़ियों से आईटीआई में महिलाओं को ड्राइविंग सिखाई जाएगी। तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा ने बताया कि मुख्यमंत्री ने रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए यह फैसला लिया है। कैबिनेट बैठक में फैसला हुआ कि प्रदेश के चार बड़े महकमों में कंडम हो चुकी गाड़ियों से आईटीआई में विद्यार्थी मोटर मैकेनिक का काम और ड्राइविंग सीख सकेंगे।
स्वरोजगार बढ़ाने के लिए सरकार ने फैसला लिया है कि दो बजे के बाद आईटीआई में महिलाएं ड्राइविंग सीख सकेंगी। इसके लिए महिलाओं को अपने घरों के आसपास स्थित आईटीआई में पंजीकरण करवाना होगा। इसके लिए कोई भी फीस नहीं ली जाएगी। दूसरे चरण में पुरुषों को भी यह सुविधा दी जाएगी। उनसे नाममात्र की सौ या दो सौ रुपये की फीस ली जाएगी। तकनीकी शिक्षा मंत्री ने बताया कि प्रदेश में 132 आईटीआई सरकारी क्षेत्र में चल रही हैं। जल्द ही प्रदेश के लोगों को ड्राइविंग सीखने के लिए अपनी जेब बहुत अधिक ढीली नहीं करनी होगी।