हिमाचल: राज्य सरकार इंटरस्टेट बस सेवा शुरू करने की तैयारी में

हिमाचल प्रदेश में मंत्रिमंडल की बैठक में हुए बार्डर खोलने और क्वारंटाइन सेंटर बंद करने के फैसले को लेकर राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है। तुरंत प्रभाव से लागू इन आदेशों के बाद राज्य सरकार इंटरस्टेट बस सेवा शुरू करने की तैयारी में है। इसके लिए प्रदेश सरकार ने परिवहन विभाग को एसओपी तैयार करने के आदेश जारी किए हैं। अधिसूचना को संबंधित विभागों के मुखियाओं और जिलाधीशों को भी भेज दिया गया है। इसके बाद से अब हिमाचल के सभी बार्डर पर फ्री मूवमेंट शुरू हो गई है।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट बसों को छोड़, अब सभी वाहन हिमाचल के अंदर आ रहे हैं व बाहर जा रहे हैं। इसके अलावा अन्य सामान के वाहनों का भी बेरोकटोक आना-जाना शुरू हो गया है। बार्डर के खुल जाने से आर्थिक गतिविधियां भी तेज हो गई हैं। सरकार की ओर से हिमाचल पथ परिवहन निगम के अधिकारियों को प्रदेश से बाहर बसें चलाने के लिए एसओपी बनाने के लिए कहा गया है, ताकि इंटरस्टेट बसों को चलाया जा सके।

उम्मीद है कि मानसून सत्र के समाप्त होने के बाद प्रदेश से बाहरी राज्यों के लिए बसें चलाई जा सकेंगी। सरकार की ओर से बार्डर खुलने को लेकर जो दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, उनमें कहा गया है कि किसी भी इंटरस्टेट और इंटरास्टेट मूवमेंट के लिए किसी भी आदमी, गुड्स कैरियर का सामान ले जाने वाले वाहनों को अब किसी तरह की परमिशन, अप्रूवल या ई-पास की जरूरत नहीं है। न ही किसी तरह के टेस्ट करवाने की जरूरत है। अब बिना किसी रोकटोक के कोई भी हिमाचल आ सकता है और वापस जा सकता है, लेकिन दूसरी ओर सरकार की ओर से अभी इंटर स्टेट बसों को चलाने को लेकर मंजूरी नहीं दी गई है, जबकि अन्य राज्यों से सरकार को मिले आवेदनों पर भी अभी तक कोई मंजूरी नहीं मिली है।
हिमाचल में पांच जगहों से होती है एंट्री
हिमाचल के भीतर आने के लिए प्रदेश के पांच जगहों पर एंट्री कर सकते हैं। इन पांच जगहोंं पर बार्डर खुलने से पहले बैरियर लगाए हुए थे। यहां पर हर आने-जाने वाले का पास, रजिस्टेशन और ई-परमिट चेक किया जा रहा था, लेकिन अब ऐसा नहीं है। इन चेक पोस्टों से अब कोई भी बिना किसी पास के हिमाचल में आ और बाहर जा सकेंगे।

लक्षण वाले कोविड मरीजों का इलाज घरों में होगा, होम आइसोलेनश के प्रति जागरूकरुकता जरुरी : मुख्यमंत्री