हिमाचल : विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रमोट करने की तैयारी शुरू

प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में पढ़ने वाले फर्स्ट और सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रमोट करने की तैयारी शुरू हो गई है। पुरानी कक्षा के 50 फीसदी अंकों, वर्तमान कक्षा की इंटरनल असेसमेंट के 30 फीसदी और शिक्षक असेसमेंट के 20 फीसदी अंकों के आधार पर परिणाम तैयार करने की योजना बनाई गई है। शिक्षा विभाग अपने इस फार्मूले को कैबिनेट की बैठक में अंतिम मंजूरी को लेकर जाएगा।
हिमाचल: 9 वीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को पहले चरण में स्कूल बुलाने की तैयारी में जुटी सरकार
अभी प्रोविजनल आधार पर फर्स्ट-सेकेंड ईयर स्टूडेंट्स को अगली कक्षाओं में प्रवेश दिया गया है। फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाएं पूरी हो चुकी हैं। आजकल पीजी की परीक्षाएं चल रही हैं। ऐसे में अब प्रदेश सरकार फर्स्ट और सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों की परीक्षाएं लेने के हक में नहीं है। शिक्षा निदेशालय ने फर्स्ट और सेकेंड ईयर के विद्यार्थियों को बिना परीक्षाएं लिए आगामी कक्षाओं में प्रमोट करने का प्रस्ताव तैयार कर लिया है।
प्रदेश के सरकारी स्कूलों में शनिवार को पहली से आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों ने गणित की परीक्षा दी। प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय आजकल इन कक्षाओं की फर्स्ट टर्म असेसमेंट के लिए परीक्षाएं ले रहा है। दस अक्तूबर तक परीक्षाएं चलेंगी। 17 अक्तूबर तक उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन होगा।
ऑनलाइन परीक्षा के तहत विद्यार्थियों को व्हाट्सएप के माध्यम से प्रश्नपत्र भेजे जा रहे हैं। जो विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई से नहीं जुड़े हैं। उन्हें शिक्षकों द्वारा घरों पर जाकर प्रश्नपत्र उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। करीब 4.20 लाख विद्यार्थियों की व्हाट्सएप के माध्यम से परीक्षाएं ली जा रही हैं। कुल 4.93 लाख विद्यार्थी परीक्षाएं दे रहे हैं।