हिमाचल: मानसून 11 दिन पहले विदा, राज्य में पांच साल के बाद इतनी कम बारिश हुई रिकॉर्ड

हिमाचल प्रदेश से मानसून रुखसत हो गया है। हालांकि राज्य से मानसून की विदाई सामान्य समय अवधि के दौरान हुई है। बीते मानसून सीजन के मुकाबले से इस सीजन के दौरान मानसून 11 दिन पहले विदा हुआ है। बारिश की बात की जाए, तो राज्य में पांच साल के बाद इतनी कम बारिश रिकॉर्ड की गई है। प्रदेश में पूरे सीजन में 26 प्रतिशत कम बारिश आंकी गई है।
इस मानसून सीजन के दौरान 567.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज
राज्य में इस मानसून सीजन के दौरान 567.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है, जबकि मानसून सीजन के दौरान राज्य में सामान्य बारिश 763.5 मिलीमीटर बारिश होती है। प्रदेश में सामान्य से 26 फीसदी कम बारिश रिकॉर्ड की गई है। राज्य में बिलासपुर, कुल्लू व ऊना को छोड़कर शेष हिमाचल में सामान्य से कम बारिश आंकी गई है। बिलासपुर में सामान्य से नौ, कुल्लू में पांच और ऊना में 10 फीसदी अधिक बारिश हुई है। पूरे सीजन के दौरान कांगड़ा में सबसे ज्यादा 1218.9 मिलीमीटर बारिश हुई है, मगर कांगड़ा में भी सामान्य से कम बारिश हुई है, जबकि लाहुल स्पीति में सबसे कम बारिश हुई है। लाहुल-स्पीति में 105.5 मिलीमीटर बारिश हुई है। जो सामान्य से 73 प्रतिशत कम दर्ज की गई है।
2018 के दौरान सबसे ज्यादा बारिश हुई थी
मौसम विभाग की मानें तो राज्य में साल 2018 के दौरान सबसे ज्यादा बारिश हुई थी, जो सामान्य से 12 प्रतिशत अधिक दर्ज की गई है। पिछले सात सालों में 2018 छोड़कर कर हर साल सामान्य से कम बारिश आंकी गई है। हिमाचल प्रदेश में इससे पहले साल 2015 में 638.3 मिलीमीटर बारिश हुई थी, जो सामान्य से 23 फीसदी कम आंकी गई थी। इस सीजन के दौरान सामान्य से 26 प्रतिशत कम बारिश आंकी गई है। मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि प्रदेश से मानसून रुखसत हो गया है। राज्य में इस सीजन के दौरान सामान्य से कम बारिश हुई है।