हिमाचल : रोहतांग में बर्फबारी, तूफान और ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान

हिमाचल में येलो अलर्ट के बीच गुरुवार को हुई ओलावृष्टि से सेब फसल को बड़ा नुकसान हुआ है। शिमला शहर, कोटखाई, आनी और किन्नौर के भावानगर में भारी ओलावृष्टि से सेब के दाने पत्तों समेत झड़ गए। बचे फलों में निशान पड़ गए हैं। रोहतांग सहित मनाली की ऊंची चोटियों पर गुरुवार को ताजा बर्फबारी हुई। शिमला में दोपहर बाद झमाझम बारिश और ओलावृष्टि हुई। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने शुक्रवार और शनिवार को भी प्रदेश के कई क्षेत्रों में बारिश-ओलावृष्टि और अंधड़ का येलो अलर्ट जारी किया है।

दो जून तक प्रदेश में बारिश का पूर्वानुमान
दो जून तक प्रदेश में बारिश का पूर्वानुमान है। शिमला के कोटखाई के बाग डुमहेर, गरावग और दरकोटी पंचायत में गुरुवार को जमकर ओलावृष्टि हुई। उद्यान विभाग ने ओलावृष्टि से सेब की 60 से 70 फीसदी फसल को नुकसान होने का अनुमान लगाया है। किन्नौर की भावावैली के काफनू, कटगांव, यांगपा, हुरी, कराबा और होमते सहित कई गांवों में ओलावृष्टि हुई। उधर, कुल्लू के आनी क्षेत्र में भयंकर तूफान के साथ मूसलाधार बारिश हुई। मौसम में आए बदलाव से कई लोग गाड़ियों सहित सड़कों में ही फंस गए। राहगीरों को भारी परेशानियां झेलनी पड़ीं।

कांगड़ा में अंधड़ और हल्की बारिश हुई
कांगड़ा के ऊपरी क्षेत्रों में अंधड़ चला और हल्की बारिश हुई। मैकलोडगंज, धर्मशाला, दाड़ी, खनियारा, पालमपुर व मुल्थान में दोपहर बाद हल्की बारिश हुई। देहरा, ज्वालामुखी, जसूर, नूरपुर, नगरोटा सूरियां में हल्की बारिश के साथ अंधड़ चला। पंचरुखी सलियाना रोड में पेड़ गिरने से रास्ता बंद हो गया। पालमपुर में एक टेंपो पर पेड़ गिर गया। चंबा में दो स्कूलों की छतें उड़ गईं। पेड़ गिरने से कई जगह बिजली के तार टूट गए। उधर, वीरवार को ऊना को छोड़कर अन्य क्षेत्रों के अधिकतम तापमान में तीन से चार डिग्री की कमी दर्ज हुई। ऊना में अधिकतम तापमान 41.7, बिलासपुर 34.0, हमीरपुर-भुंतर 33.8, कांगड़ा 33.4, चंबा 27.4, धर्मशाला 30.4, सुंदरनगर 33.8, शिमला 26.3, सोलन 33.0, नाहन 35.0, कल्पा 21.0 और केलांग में 17.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।

 

Khabar Himachal पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें ।