हिमाचल: सरकार ने 72 और नई पंचायतों के गठन के प्रस्ताव की अधिसूचना की जारी

हिमाचल प्रदेश में जयराम सरकार ने 72 और नई पंचायतों के गठन के प्रस्ताव की अधिसूचना जारी की है। अहम है कि कोविड काल के बीच नई पंचायतों का आंकड़ा बढ़कर 469 हो गया है। इनमें 230 ग्राम पंचायतों को नोटिफाई कर दिया गया है। बाकी रहती पंचायतों के लिए आपत्तियों व सुझावों की औपचारिक  प्रक्रिया चल रही है। बड़ी बात है कि हरेक पंचायत के गठन पर लाखों का खर्च आएगा। इस कोविड काल के आर्थिक संकट में इन नई पंचायतों के गठन के लिए करोड़ों की राशि कहां से आएगी, यह मसला कई सवालों को जन्म दे रहा है। हालांकि विपक्ष इसका विरोध कर रहा है, जिसने सरकार को विधानसभा में इस पर कहा भी है, मगर सरकार इसमें रुकी नहीं, बल्कि उसने 397 पंचायतों की घोषणा के बाद मंगलवार को 72 और नई पंचायतों का प्रारूप जारी कर दिया है।
पंचायती राज विभाग ने इसे लेकर जनता से आपत्तियां व सुझाव मांगे हैं, जोकि सात दिनों में उन्हें देने होंगे। इसके बाद नई पंचायतों के गठन की अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। बता दें कि इससे पहले सरकार ने 230 नई पंचायतों का प्रस्ताव लाया था, जिस पर भी मंगलवार को अधिसूचना हो गई, जिसमें लोगों से आपत्तियां व सुझाव लिए गए हैं। इसके बाद 96 पंचायतों के प्रस्ताव की घोषणा दूसरे व तीसरे चरण में की और अब 72 पंचायतों के नाम सामने आए हैं।
पंचायती राज विभाग आने वाले दिनों में  96 व 72 नई पंचायतों के गठन को अधिसूचना जारी करेगा, जिसके साथ हिमाचल में पंचायतों का कुल आंकड़ा 3695 का हो जाएगा। बता दें कि प्रदेश में सालों बाद नई पंचायतें बनाई जा रही हैं, जिसकी मांग जनता द्वारा की गई थी। क्योंकि जनगणना का काम अब दिसंबर 2020 के बाद शुरू होगा ,लिहाजा तब तक यहां पर नई पंचायतों का गठन किया जा सकता है। इसके साथ यहां पर राज्य चुनाव आयोग भी इनके चुनाव की प्रक्रिया को शुरू कर देगा, जोकि सभी नई पंचायतों की अधिसूचना जारी होने का इंतजार कर रहा है।
पिछले डेढ़ दशक से हिमाचल प्रदेश में नई पंचायतों के गठन का प्रस्ताव लटका था। यह प्रदेश की जनता की सबसे बड़ी मांग थी। इस कारण जन हित में नई पंचायतों का गठन किया गया है। अगर अब नहीं करते, तो यह मामला पांच साल के लिए और लटक जाता – जयराम ठाकुर, मुख्यमंत्री, हिमाचल प्रदेश