हिमाचल : डाकघर में 14 लाख 14 हजार का घोटाला, मामला दर्ज

हिमाचल प्रदेश के जिला ऊना के दौलतपुर चौक के घनारी डाकघर में 14 लाख 14 हजार का घोटाला उजागर हुआ है। जिससे खाताधारकों के पैरों तले जमीन खिसक गई है। अभी नजदीकी गांव दियोली गांव की सहकारी सभा मे 11.70 करोड़ के घोटाले की स्याही सूखी ही नहीं थीएकि अब घनारी डाकघर में घोटाले की खबर से हड़कंप मच गया है। मिली जानकारी के अनुसार घनारी गांव के डाकघर में पिछले दो तीन वर्षों से लोगो की गाढ़ी कमाई पर वहां के सब पोस्टमास्टर द्वारा ही डाका डाला जा रहा था। आरोपी सब पोस्टमास्टर बड़ी चालाकी से खाताधारकों की पासबुक में तो जमा राशि को मैन्युल एंट्री कर देता परंतु प्रिंटर न चलने का बहाना बनाता था, जिससे ऑनलाइन एंट्री पासबुक में नहीं हो पाती।

आरोपी पैसा वापिस करने में बहानेबाजी करने लगा
मिली जानकारी के अनुसार जब कुछ खाताधारक अपना पैसा वापिस लेने गए तो आरोपी पैसा वापिस करने में बहानेबाजी करने लगता। जिस पर स्थानीय खाताधारकों ने उच्च स्तर पर इसकी शिकायत की। विभाग द्वारा प्रारम्भिक जांच में सब पोस्टमास्टर के दोषी पाए जाने पर उसे सस्पेंड करके पहले ही विभागीय जांच शुरू की जा चुकी है। इसी के आधार पर अधीक्षक पोस्ट ऑफिस डिवीजन ऊना राम तीर्थ शर्मा ने शनिवार को सब-पोस्ट मास्टर के खिलाफ थाना गगरेट में एफआईआर दर्ज करवा दी और अब आरोपी को विभागीय जांच के साथ-साथ पुलिस जांच का भी सामना करना पड़ेगा।

अधिकतर राशि सुकन्या समृद्धि योजना और नये बचत खातों की
उधर अधीक्षक पोस्ट ऑफिस डिवीजन ऊना राम तीर्थ शर्मा ने बताया कि घनारी डाकघर में 14 लाख 14 हजार का घोटाला हुआ है जिसमे अधिकतर राशि सुकन्या समृद्धि योजना और नये बचत खातों की है। जिस पर आरोपी के खिलाफ विभागीय जांच के साथ साथ अब एफआईआर भी दर्ज करवा दी है। थाना प्रभारी हरनाम सिंह ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि अधीक्षक पोस्ट ऑफिस डिवीजन ऊना की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार सब पोस्ट मास्टर 2018 में अचानक से गायब हो गया था और पठानकोट में मिला था। उस समय आरोपी की मानसिक हालात ठीक नही होने की अफवाह उठी थी और बताया गया था कि उसका इलाज पठानकोट में चल रहा था। ततपश्चात खाताधारकों की शिकायत पर आरोपी ने कुछ लोगो का धन वापिस भी किया और मामला विभाग तक पहुंचने पर उसे सस्पेंड किया गया और अब उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।