गुजरात: सभी विधानसभा सीटों पर भाजपा का कब्जा

गुजरात की आठ विधानसभा सीटों पर गत तीन नवंबर को हुए उपचुनाव की मतगणना आज जारी है और इन सभी पर सत्तारूढ़ भाजपा के उम्मीदवार आगे चल रहे हैं। सभी सीटों पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस दूसरे नंबर पर है। अधिकारिक सूचना के अनुसार मतगणना अब अंतिम चरणो में है। फिलहाल भाजपा सबसे कम 4859 मतों के अंतर से मोरबी सीट पर आगे है। अन्य सीटों पर यह अंतर 10 हजार से लेकर 32 हजार तक है।
कच्छ जिले की अबडासा, सुरेंद्रनगर की लिंबड़ी, मोरबी की मोरबी, अमेरली की धारी, बोटाद की गढड़ा (सुरक्षित-अनुसूचित जाति), वडोदरा की करजण, डांग की डांग (सुरक्षित-अनुसूचित जनजाति) और वलसाड की कपराड़ा (सुरक्षित-अनुसूचित जनजाति), इन आठ सीटों पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के तत्कालीन विधायकों के त्याग पत्र के कारण ये उपचुनाव हुए। इन पर कुल 81 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें से 51 निर्दलीय भी हैं। सर्वाधिक 14 उम्मीदवार लिंबड़ी और सबसे कम चार कपराड़ा में हैं। करजण और डांग में नौ-नौ, अबडासा में 10, धारी में 11 तथा मोरबी और गढड़ा में 12-12 उम्मीदवार हैं। मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ भाजपा और कांग्रेस के बीच ही माना जा रहा था।
भाजपा ने इनमें से पांच सीटों पर उन्हीं पूर्व कांग्रेस विधायकों को अपना उम्मीदवार बनाया है, जिनके इस्तीफे से ये सीटें रिक्त हुई हैं। ये हैं- प्रद्युम्नसिंह जाडेजा (अबडासा), ब्रिजेश मेरजा (मोरबी), जे वी काकडिय़ा (धारी), अक्षय पटेल (करजण) और जीतू चौधरी (कपराड़ा)। इसके अलावा अन्य तीन सीटों पर भाजपा के उम्मीदवार हैं पूर्व मंत्री आत्माराम परमार (गढड़़ा), आठवीं बार पार्टी टिकट पर उतरे किरीट राणा (लिंबड़ी) और विजय पटेल (डांग)। कांग्रेस के प्रत्याशी हैं – शांतिलाल सेंधानी (अबडासा), चेतन खाचार (लिंबड़ी), जयंतीलाल पटेल (मोरबी), सुरेश कोटडिया (धारी), मोहन सोलंकी (गढड़ा), किरीट जाडेजा (करजण), सूर्यकांत गावित (डांग) और बाबूभाई पटेल (कपराड़ा)। गुजरात की 182 सदस्यों वाली विधानसभा में फि़लहाल भाजपा के 103 विधायक हैं। कांग्रेस के 65, भारतीय ट्राइबल पार्टी के दो तथा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का एक है। इसलिए इस उपचुनाव के नतीजे से सत्ता के समीकरण पर कोई असर नहीं पड़ेगा। वैसे ये सभी सीटें पूर्व में कांग्रेस की होने से उसके लिए इन पर अपनी साख बचाने का दबाव है।