पूर्व रक्षामंत्री जसवंत सिंह का निधन

देश के पूर्व रक्षामंत्री जसवंत सिंह (Jaswant Singh) का निधन हो गया है. जसवंत सिंह 82 साल के थे . प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी. उन्होंने लिखा, “जसवंत सिंह जी ने पहले एक सैनिक, फिर राजनीति में सक्रियता के जरिए हमारे देश की खूब लगन से सेवा की. अटल जी की सरकार में उन्होंने कई अहम मंत्रालय संभाले और वित्त, रक्षा व विदेश क्षेत्र में अपनी गहरी छाप छोड़ी. उनके निधन से दुखी हूं.”

बता दें जसवंत सिंह पिछले 6 साल से कोमा में चल रहे थे. हाल में उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद जसवंत सिंह को दिल्ली के आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था.

जसवंत सिंह का जन्म 3 जनवरी 1938 को राजस्थान के बाड़मेर जिले के जसोल गांव में हुआ था. 1957 से लेकर 1966 तक जसवंत सिंह भारतीय सेना में रहे. बाद में वे राजनीति में आ गए. हालांकि शुरुआत में उन्हें ज्यादा सफलता नहीं मिली. पर बाद में वे जनसंघ के जरिए काफी सक्रिय हो गए. 80 के दशक में उन्हें राज्यसभा में जगह मिली. बाद में भी वे राज्यसभा से चुने जाते रहे.

जसवंत सिंह अटल बिहारी सरकार में विदेश, वित्त और रक्षा मंत्री रहे थे
वाजपेयी सरकार में उन्होंने विदेश, रक्षा और वित्त जैसे बड़े मंत्रालयों की कमान संभाली. लेकिन हाल में उनका बीजेपी नेतृत्व से विवाद हो गया था. 2014 में उन्हें बाड़मेर से टिकट नहीं दी गई. जिसके बाद उन्होंने निर्दलीय लड़ने का फैसला किया. इसके चलते बीजेपी ने उन्हें पार्टी से भी निकाल दिया था.
जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह भी राजनीति में सक्रिय हैं. पिता को बीजेपी से निकालने के 4 साल बाद मानवेंद्र कांग्रेस में शामिल हो गए थे. 2013 से 2018 के बीच मानवेंद्र शिव विधानसभा सीट से विधायक भी रहे हैं. इससे पहले 2004 से 2009 के बीच मानवेंद्र बाड़मेर से लोकसभा सांसद भी थे.

 

यहाँ भी पढ़े:  पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की 9 फुट ऊंची प्रतिमा रिज मैदान शिमला में स्थापित की जाएगी