अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले में ED ने दर्ज़ किया मनी लॉन्ड्रिंग का केस

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने जांच शुरू करते हुए शुक्रवार को मनी लॉन्ड्रिंग के तहत केस दर्ज़ कर लिया। धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत यह मामला दर्ज किया गया है। ईडी ने बिहार पुलिस की एफआईआर का संज्ञान लेने के बाद केस दर्ज किया है। अब जांच एजेंसी अभिनेता के बैंक खाते से 15 करोड़ रुपये के संदिग्ध लेनदेन की जांच करेगी।

सुशांत के पिता के.के. सिंह ने पिछले दिनों पटना में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। उन्होंने रिया पर सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है। इसके साथ ही बिहार पुलिस ने भी मामले में अपनी जांच को आगे बढ़ाया है।

जानकारी के अनुसार बिहार पुलिस ने कल देर शाम मुंबई में दिल बेचारा फिल्म के निर्देशक मुकेश छाबरा से पूछताछ की। दिल बेचारा सुशांत सिंह राजपूत की अंतिम फिल्म थी। छाबरा से फिल्म की शूटिंग के समय सुशांत के व्यवहार, उनकी बॉडी लैंग्वेज और कई अन्य सवाल किए गए। बिहार पुलिस आने वाले दिनों में मुंबई में और भी कई लोगों से पूछताछ कर सकती है।

वहीं इस पूरे मामले में मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 5 अगस्त को सुनवाई कर सकता है। रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह राजपूत के पिता द्वारा पटना में दर्ज कराई गई एफआईआर को मुंबई ट्रांसफर कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर रखी है। इस मामले में कोर्ट के किसी भी निर्णय से पहले अपना पक्ष रखने के लिए सुशांत के परिजन और बिहार सरकार कैविएट दाखिल कर चुके हैं।

इससे पहले कल मुम्बई में अभिनेता शेखर सुमन ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाक़ात कर सुशांत के केस की सीबीआई जांच करने की मांग की।