धर्मशाला: हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने प्रदेश के लाखों छात्रों को कोरोना संकट के बीच दिया झटका

धर्मशाला: हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड (Himachal Pradesh Education board) ने प्रदेश के लाखों छात्रों को कोरोना संकट के बीच झटका दिया है. मार्च, 2021 में होने वाली बोर्ड परीक्षा में शिक्षा बोर्ड परीक्षार्थियों से 10 फीसदी अधिक परीक्षा शुल्क (Examination Fee) वसूल किया जाएगा. यह फैसला मार्च से पहले हुई बीओडी की बैठक में लिया गया था, जिसे अब लागू किया गया है.
बीओडी की बैठक में शुल्क बढ़ाने का फैसला लिया था
मार्च में बीओडी की बैठक में शुल्क बढ़ाने का फैसला लिया था, लेकिन कोरोना के चलते इसे उस समय न बढ़ाकर अब बढ़ाया गया है. हालांकि, फैसले को लेकर सवाल उठने लगे हैं. क्योंकि हाल ही में शिक्षा विभाग ने अपने मंत्री के लिए 18 लाख की कार खरीदी थी. ऐसे में फीस वृद्धि को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं
क्या हैे नई दरें
जानकारी के अनुसार, अब दसवीं के छात्रों को 600 रुपये परीक्षा शुल्क देना होगा. इसस पहले 500 रुपये लिए जाते थे. 12वीं के छात्रों को अब 700 रुपये के बजाय 850 रुपये देन होंगे. डीएलएड के नियमित अभ्यर्थियों को भी 650 रुपये के बजाय अब 800, जबकि प्राइवेट छात्रों को 900 रुपये के बदले अब 1100 रुपये परीक्षा शुल्क देना होगा.