कंडक्टर भर्ती: परीक्षा के लिए दसवीं पास उम्मीदवारों को मिली राहत, कोर्ट गए अभ्यर्थी भी दे सकेंगे परीक्षा

हिमाचल पथ परिहवन निगम में भरे जा रहे कंडक्टरों के 568 पदों के आवेदन के लिए हाई कोर्ट ने उन अभ्यर्थियों को एजुकेशन क्वालिफिकेशन में राहत पहुंचाई है, जिनका मामला कोर्ट में विचाराधीन हैं। वे अभ्यर्थी यदि दसवीं पास हैं और उन्होंने एचआरटीसी में कुछ समय के लिए सेवाएं दी हैं, वे 18 अक्तूबर को कंडक्टर भर्ती परीक्षा दे सकेंगे। यदि उन्होेंने पोस्ट कोड-762 के तहत भरे जा रहे कंडक्टरों के 568 पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं किया है, तो वे चयन आयोग कार्यालय हमीरपुर आकर ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हैं।
65 हजार के करीब बेरोजगारों ने आवेदन किया हुआ था
आयोग उन्हें रोल नंबर और सेंटर मुहैया करवा देगा। यहां बताना जरूरी है कि कोर्ट ने उन्हें केवल परीक्षा में बैठने की अनुमति देते हुए अस्थायी राहत पहुंचाई है उनके रिजल्ट का फैसला कोर्ट के निर्णय के बाद ही होगा। बता दें कि प्रदेश में ऐसे 44 अभ्यर्थी हैं, जिनका मामला माननीय उच्च न्यायलय में चल रहा है। बताते चलें कि 18 अक्तूबर को होने जा रही कंडक्टर भर्ती परीक्षा के लिए 65 हजार के करीब बेरोजगारों ने आवेदन किया हुआ था, जिनमें से पांच हजार के करीब फार्म रिजेक्ट हो चुके हैं। ऐसे में अब लगभग 60 हजार अभ्यर्थी कंडक्टर भर्ती की लिखित परीक्षा देंगे। पहली बार कंडक्टर भर्ती के लिए 12वीं पास की योग्यता अनिवार्य की गई है। केवल कोर्ट में विचाराधीन अभ्यर्थियों के मामले को देखते हुए उन्हें एजुकेशन क्वालिफिकेशन में छूट दी गई है।
वेलिड कंडक्टर लाइसेंस वाले ही होंगे इलिजिबल
कर्मचारी चयन आयोग की ओर से जारी निर्देशों में यह भी साफ कहा गया है कि कंडक्टर भर्ती के लिए वे ही अभ्यर्थी योग्य माने जाएंगे, जिनकी एजुकेशन क्वालिफिकेशन 12वीं पास है और जिनके पास कंडक्टर का वेलिड लाइसेंस है, जो कि छह फरवरी, 2020 से पहले का हो।