बीपीएल फर्जीवाड़ा: गरीबों के राशन को डकारने वालों के खुलासे हुए शुरू

हिमाचल के खाद्य आपूर्ति मंत्री राजेंद्र गर्ग.

शिमला: हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में अमीर बनकर गरीबों (Poor) के राशन को डकारने के लिए फर्जी बीपीएल और अंत्योदय कार्ड बनाने का बड़ा फर्जीवाड़ा हुआ है. करदाताओं को सस्ते राशन (Ration) से बाहर करने के लिए सरकार ने एक विशेष अभियान चलाया हुआ है, जिसमें अब खुलासे होने शुरू हो गए हैं.

125 ऐसे अमीर लोगों की पहचान
शुरूआती चरण में 125 ऐसे अमीर (Rich) लोगों की पहचान हुई है, जो अच्छा खासा टैक्स देते हैं, लेकिन सस्ते राशन के लिए मिलीभगत से अपने परिवार के बीपीएल और अंत्योदय कार्ड बनाए हैं. इनमें डॉक्टर, अध्यापक, प्रोफेसर सहित कई अच्छे नौकरीपेश लोग भी शामिल है. यह संख्या अभी और बढ़ेगी, क्योंकि यह काम अभी भी चला हुआ है. खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिंद्र गर्ग ने इसकी पुष्टि की है. साथ ही गलत तरीके से बीपीएल एवं अंत्योदय परिवारों को मिलने वाली सुविधाओं का दुरुपयोग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दे डाले हैं.

शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में अमीर बनकर गरीबों (Poor) के राशन को डकारने के लिए फर्जी बीपीएल और अंत्योदय कार्ड बनाने का बड़ा फर्जीवाड़ा हुआ है. करदाताओं को सस्ते राशन (Ration) से बाहर करने के लिए सरकार ने एक विशेष अभियान चलाया हुआ है, जिसमें अब खुलासे होने शुरू हो गए हैं.

शुरूआती चरण में 125 ऐसे अमीर (Rich) लोगों की पहचान हुई है, जो अच्छा खासा टैक्स देते हैं, लेकिन सस्ते राशन के लिए मिलीभगत से अपने परिवार के बीपीएल और अंत्योदय कार्ड बनाए हैं. इनमें डॉक्टर, अध्यापक, प्रोफेसर सहित कई अच्छे नौकरीपेश लोग भी शामिल है. यह संख्या अभी और बढ़ेगी, क्योंकि यह काम अभी भी चला हुआ है. खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिंद्र गर्ग ने इसकी पुष्टि की है. साथ ही गलत तरीके से बीपीएल एवं अंत्योदय परिवारों को मिलने वाली सुविधाओं का दुरुपयोग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दे डाले हैं.

कैबिनेट मंत्री ने यह भी साफ किया कि जांच पूरी होने के बाद ऐसे फर्जी बीपीएल और अंत्योदय कार्ड धारकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी, जब तक सस्ता राशन लिया है उसकी रिकवरी भी की जा सकती है, ताकि भविष्य में कोई भी व्यक्ति ऐसा कार्य न कर सके.हिमाचल में करीब डेढ़ लाख करदाता हैं.

कोरोनाकाल में भी खा गए मुफ्त का राशन
बीपीएल और अंत्योदय एक समान सस्ता राशन मिलता है, जिसमें 18 किलो 800 ग्राम आटा, 15 किलो चावल, दो तेल, तीन दालें मिलती हैं. हालांकि, इस बार कोरोनाकाल में इन्हें काला चना एक किलो, चावल दो किलो, गेहूं तीन किलो प्रति व्यक्ति के हिसाब से मुफ्त में दिए गए हैं. अंत्योदय के लिए 3 रूपये 20 पैसे आटा, 3 रूपये प्रति किलो चावल, बीपीएल को सात रुपये किलो आटा और चावल 6 रूपये 85 पैसे दिया जाता है. इसी तरह दालें और तेल भी सस्ते दाम पर मिलता है.