भाजपा सरकार अपना तीन वर्षों का कार्यकाल पूरा, जोकी पूरी तरह निराशाजनक रहा: गंगूराम मुसाफिर

सराहां: हिमाचल प्रदेश में भाजपा सरकार अपना तीन वर्षों का कार्यकाल पूरा कर रही है जोकी पूरी तरह निराशाजनक रहा है, यह बात पूर्व विस् अध्यक्ष गंगूराम मुसाफिर ने सराहां में आयोजित पत्रकार वार्ता में कही। इससे पूर्व सराहां में मुसाफिर ने सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 इंदिरा गांधी की तस्वीर पर माला चढ़ाकर उनकी पुण्यतिथि पर पुष्पांजलि अर्पित की। मुसाफिर ने कहा कि सरकार लोगों की उम्मीदों पर पूरा नहीं उतरी है,जो वायदे जो घोषणाएं सरकार ने कि थी वह केवल जुमला ही निकली है। उन्होंने कहा कि आज महंगाई, बेरोजगारी बड़ी है, भ्रष्टाचार का बोलबाला है महिलाएं सुरक्षित नही है और नौजवान आत्महत्या कर रहे हैं।
मुसाफिर ने आरोप लगाते कहा की इस कॅरोना काल मे सरकार की अचीवमेंट न के बराबर है। यही नही इस महामारी को कंट्रोल करने में यह सरकार पूरी तरह विफल हुई है। जो कदम उठाने चाहिए थे वह नही उठाये गए, जब लोकडॉउन लगाना चाहिए था तब खोल दिया और जब खुला रखना था लोकडॉउन लगा दिया। इससे न केवल लोगों की आजीविका पर विपरीत प्रभाव पड़ा बल्कि लोगों में एक अजीब सा डर अभी बना हुआ है।
मुसाफिर ने पच्छाद का जिक्र करते हुए कहा कि जो वायदे व घोषणाएं मुख्यमंत्री समेत उनके मंत्रियों ने उपचुनाव ने किये थे उनमेसे एक भी कार्य यहाँ नही हुआ है और न ही मुख्यमंत्री द्वारा यहां की कोई घोषणा अभी तक पूरी हुई है। लोगों घुसा है कि रोजगार नही मिला है उपचुनाव में सिंचाई योजनाओं, पेयजल योजनाओं का ज़िक्र किया गया, सड़कों व नेशनल हाईवे की बात की गई लेकिन जमीनी स्तर पर अभी तक एक भी कार्य नही हुआ है इससे साफ इनकी मनसा दिख रही है कि वो केवल चुनाव को जीतने के लिए सोची समझी जुमलेबाजी थी।
मुख्यमंत्री क्षेत्र वाद की नीति से कर रहे है विकास कार्य
मुसाफिर ने मुख्यमंत्री पर भेदभाव व क्षेत्रवाद की दृष्टि से विकास कार्य का आरोप लगाते कहा कि स्वयं मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने उपचुनाव से पहले सराहां में कहा था कि वह अपने विस् क्षेत्र सराज की तर्ज पर पच्छाद का विकास होगा। लेकिन अभी तक यहाँ इस कुछ नही हुआ है यह न तो पर्यटन की दृष्टि से कोई यहाँ बजट आया है हेलीपैड बनना था अभी तक नही बन पाया,सड़कों की हालत बद से बदतर हो गयी है, पेयजल की किल्लत पहले से ज्यादा बढ़ गयी है। सराहां व नैनाटिककर में पानी की भारी किल्लत हो गयी है इसी तरह से बहुत सारी स्कीमें ठप पड़ी हुई है और सरकार के कानों पर जूं तक नही रेंग रही है। किसान परेशान है और किसानों के लिये जो काला कानून केन्द्र सरकार लेकर आई है उससे किसानों में बड़ी रोष है। मुसाफिर ने कहा कि कुल मिलाकर प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है जिससे आमजन में सरकार के प्रति भारी रोष है जिसका परिणाम आने वाले पंचायत चुनाव में जनता देगी।