हिमाचल प्रदेश के एक वीर सपूत अतर राणा देश की सेवा करते हुए शहीद

भारतीय सेना (Indian Army) में मातृभूमि की सेवा कर रहे हिमाचल प्रदेश के शिमला (Shimla) जिले के चौपाल उपमंडल की कुपवीं तहसील के एक वीर सपूत अतर राणा देश की सेवा करते हुए शहीद हो गए हैं. बताया जा रहा है कि शहीद अतर राणा पंजाब रेजिमेंट (Punjab Regiment) के सेवारत थे और अरुणाचल प्रदेश मे भारत-चीन सीमा में लाइन ऑफ़ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर तैनात थे. हालांकि, अधिकारिक रूप से मृत्यु के कारण की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है, लेकिन कहा जा रहा है वीर सपूत ने देश की सेवा करते हुए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है.

शहीद जवान परिवार मे रोजी रोटी कमाने वाले इकलौते व्यक्ति थे. जो अपने पीछे माँ बाप के अलावा 2 बहनें और 3 भाई छोड़ गए है. शहीद अविवाहित थे और 26 वर्ष की उम्र में देश सेवा करते हुए शहीद हो गए है. वर्ष 1994 को धार चांदना पंचायत के गाँव धार में जन्मे शहीद अत्तर राणा ने वर्ष 2012 में भारतीय सेना ज्वाइन की थी.

पंचायत के प्रधान आत्मा राम लोधटा ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि शहीद के बड़े भाई दलीप सिंह उर्फ दिनेश को सेना मुख्यालय से एक अधिकारी द्वारा फ़ोन पर शहादत की सूचना दी गई थी, जिसके बाद से धार चांदना क्षेत्र और समूचा चेता परगना गमगीन हो गया है. पंचायत प्रधान ने बताया कि बीते कल रात से ही शहीद के परिवार को सांत्वना देने के लिए क्षेत्र के सैकड़ों लोग उनके घर पर पहुंच रहे है. सैनिक कल्याण बोर्ड के उपनिदेशक कर्नल (रिटायर्ड) एनपी अत्री ने बताया कि भारत-चीन सीमा में लाइन ऑफ़ एक्चुअल कंट्रोल पर तैनात 26 वर्षीय जवान के निधन की जानकारी मिली है. शनिवार तक पार्थिव देह को हवाई मार्ग के जरिये दिल्ली पहुँचाये जाने की उम्मीद जताई जा रही है.