सराहां : एसएसबी प्रशिक्षित बेरोजगार गुरिल्ला संगठन की हुई बैठक

सराहां : एसएसबी प्रशिक्षित बेरोजगार गुरिल्ला संगठन जिला सिरमौर की एक बैठक सराहां में आयोजित की गई, सर्वप्रथम बैठक में संगठन द्वारा नागालैंड के पूर्व गवर्नर व सीबीआई के निदेशक अश्वनी कुमार के निधन पर दो मिनट का मोन रखा गया व परमपिता परमेश्वर से उनकी आत्मा की शांति के लिए प्राथना की गई ।

बैठक में एसएसबी प्रशिक्षित गुरिल्ला संगठन ने कहा कि संगठन की सुनवाई माननीय उच्च न्यालय में लंबित पड़ी है जिसका निर्णय गुरीलाओं के पक्ष में ही आएगा ऐसा विश्वाश गुरीलाओं को माननीय उच्च न्यालय पर है। इसके अलावा संगठन ने केंद्र व प्रदेश सरकार से आग्रह किया है कि एसएसबी प्रशिक्षित गुरीलाओं के लिए भी कोई पॉलिसी बनाई जाए ताके वर्षों से सरकार की तरफ उनके लिए कोई पॉलिसी बने व उन्हें अपने जीवन के स्वर्णिम वर्ष जो सभी गुरीलाओं ने देश सेवा में लगाये उसका जीवन यापन हो सके।

बता दें की गुरिल्ला सेना का गठन 1962 में युद्ध के दौरान हुआ था ओर तब देश सेवा करने की ख्वाइश रखने वाले कई नोजवान इस गुरिल्ला सेना में भर्ती हुए थे जिन्होंने कई वर्षों तक अलग अलग तरह की सेना से सम्बंधित ट्रेनिंग व रिफ्रेशर,हथियार चलना जैसे कार्य सीखे थे लेकिन सरकार के द्वारा इन गुरीलाओं के लिए न तो कोई पॉलिसी बनी न ही किसी तरह का रोजगार मिला जबकि कुछ लोग तो अच्छे खासे शिक्षित भी थे। हालांकि सभी लोग अब वृद्धावस्था में हैं तथा कई लोगों का स्वर्गवास भी हो चुका है। लेकिन सरकार से गुरीलाओं को एक आस है कि उनके द्वारा जीवन का एक बहुत बडा हिस्सा उन्होंने देश सेवा में लगाया है जिसके लिए सरकार उन्हें उस सेवा के बदले किस अच्छी पॉलिसी के जरिये समानित करे।