जम्मू-कश्मीर के 33 नेताओं के विदेश जाने पर रोक लगी

जम्मू-कश्मीर के 33 नेताओं के विदेश जाने पर रोक लगाई गई है। इसके चलते नेशनल कांफ्रेंस के पूर्व विधायक अलताफ अहमद वानी को वीरवार शाम दिल्ली हवाई अड्डे पर दुबई की उड़ान में बैठने से रोक दिया गया। अधिकारियों ने बताया, कि उन्हें विदेश यात्रा की अनुमति नहीं है। अलग-अलग पार्टी के नेताओं वाली इस सूची में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती का नाम शामिल नहीं है।
दुबई में एक पारिवारिक कार्यक्रम में शिरकत करने जा रहे पहलगाम से विधायक रह चुके वानी ने फोन पर अमर उजाला को बताया कि, मुझे रोकने के लिए अधिकारियों को शुक्रिया। मेरे पास अब कोई सामान नहीं है, क्योंकि मेरा बैग परिवार के अन्य सदस्यों के साथ चला गया। मैं दिल्ली में हूं।
वानी ने बताया, मैं दोपहर में हवाई अड्डे पहुंच गया था। इमिग्रेशन काउंटर पर पहुंचते ही मुझे अलग कमरे में ले जाया गया। ऐसा लगा कि पासपोर्ट में गड़बड़ी है, लेकिन वहां मुझे करीब तीन घंटे बैठाये रखा गया। इसके लिए कोई स्पष्टीकरण भी नहीं दिया गया। जम्मू कश्मीर पुलिस के अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद उन्हें जाने दिया गया। वानी ने कहा, इसके बाद मैंने परिवार को यात्रा पर जाने को कहा और इमिग्रेशन से इस मसले को स्पष्ट करने को कहा। करीब तीन घंटे बाद वानी को पासपोर्ट लौटाते हुए बताया गया कि मार्च 2021 तक उनके विदेश यात्रा करने पर रोक है।