हीरानगर : ना’पाक’ हरकतों के बजय से बॉर्डर निवासियों का रहना हुआ मुश्किल

हीरानगर (जम्मू ): कठुआ के हीरानगर सेक्टर निवासियों को वहां रहना हो रहा मुश्किल। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान पूरी तरह से बौखलाया हुआ है। आतंकियों को घुसपैठ कराने की फिराक में वह आए दिन संघर्षविराम का उल्लंघन कर रहा है। इतना ही नहीं पाकिस्तानी सेना रिहायशी इलाकों को भी निशाना बना रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि पाकिस्तानी सेना की ओर से की जा रही भारी गोलाबारी के कारण लगातार भयभीत रहते हैं। हर समय अपने परिवार को सुरक्षित रखना होता है। सामान्य जीवन जीना मुश्किल हो चुका है। हर पल मौत का साया सा मंडराया करता है।

कठुआ जिले में हीरानगर सेक्टर के बॉर्डर आउट पोस्ट मनियारी और सतपाल के बीच चल रहे बांध निर्माण कार्य से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। 17 सितंबर से लगातार पाकिस्तान काम बंद करवाने को लेकर गोलाबारी का दौर जारी रखे हुए है।

पाकिस्तान ने बीते गुरुवार को ही अपने सीमा से सटे रिहायशी इलाकों को खाली करवा दिया था जिसके बाद एहतियातन भारतीय सीमा में आईबी से पांच किलोमीटर दायरे के स्कूलों को भी पाकिस्तानी गोलाबारी के अंदेशे से प्रशासन ने शुक्रवार को बंद करवाया था। शनिवार को सामान्य रूप से स्कूल खुल गए थे।

सोमवार शाम लगभग सात बजे मनियारी और सतपाल बार्डर आउट पोस्ट के बीच बांध बनाने का काम शुरू किया गया। इससे बौखलाए पाकिस्तानी रेंजरों ने एक बार फिर फिर मनियारी गांव के आसपास भारी गोलाबारी शुरू कर दी। रात सवा आठ बजे के लगभग शुरू हुई गोलाबारी का बीएसएफ की सतपाल पोस्ट से भी जवाब दिया।