हिमाचल : शिक्षा विभाग ने जारी की स्कूलों में आने के लिए एसओपी

कैबिनेट बैठक टलने से हिमाचल शिक्षा विभाग ने स्कूलों में आने के लिए एसओपी जारी कर दी है। हिमाचल के स्कूलों में अभी भी नियमित कक्षाएं नहीं लगेंगी। अक्तूबर में भी पुरानी व्यवस्था ही जारी रहेगी।  अभिभावकों की सहमति पर ही नौवीं से जमा दो कक्षा के विद्यार्थियों को स्वेच्छा आधार पर स्कूल आने की मंजूरी मिलेगी। केंद्र सरकार की ओर से बीते दिनों तय निर्देशों को ही शिक्षा विभाग ने प्रदेश में लागू किया है। उधर, दो दिन बाद सोमवार से प्रदेश के स्कूल-कॉलेजों में 100 फीसदी शिक्षक और गैर शिक्षक नियमित तौर पर आएंगे।
15 अक्तूबर के बाद शिक्षण संस्थान खोलने का फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा
इसको लेकर शुक्रवार को शिक्षा सचिव राजीव शर्मा की ओर से निर्देश जारी हो गए हैं। केंद्र ने 15 अक्तूबर के बाद शिक्षण संस्थान खोलने का फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा है। हिमाचल में इस बाबत नौ अक्तूबर को प्रस्तावित कैबिनेट बैठक में फैसला होना था, लेकिन मुख्यमंत्री के क्वारंटीन होने के चलते बैठक टल गई है। ऐसे में शिक्षा विभाग ने पुरानी व्यवस्था ही अक्तूबर में भी जारी रखने के आदेश जारी किए हैं। विद्यार्थियों को शिक्षकों से गाइडेंस लेने के लिए अभिभावकों के सहमति पत्र पर स्कूल आने दिया जाएगा।
विद्यार्थी पहले संबंधित शिक्षक को फोन करेंगे। शिक्षक से समय मिलने के बाद ही विद्यार्थी आ सकेंगे। शिक्षा विभाग ने 15 से 17 अक्तूबर तक प्रदेश के सरकारी स्कूलों में ई पीटीएम करने के निर्देश भी जारी किए हैं। इसके तहत अभिभावकों के साथ फर्स्ट टर्म परीक्षाओं के परिणाम साझा किए जाएंगे। उधर, 12 अक्तूबर से स्कूल आने वाले सभी शिक्षकों और गैर शिक्षकों को नियमित कक्षाएं लगाने के लिए माइक्रो प्लान बनाना होगा। शिक्षा सचिव ने बताया कि अक्तूबर में ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। जो विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई से नहीं जुड़े हैं, उन्हें शिक्षक घर जाकर नोट्स उपलब्ध करवाएंगे।