हिमाचल में कोरोना की रफ़्तार तेज, अब तक 156 लोगों की गई जान

कोरोना ने हिमाचल में ऐसे पांव पसार लिए हैं कि अब इसकी रफ्तार थमने को तैयार नहीं। पहले तो कोरोना के नए मामले ही लोगों को डरा रहे थे, लेकिन अब मौत के आंकड़ोें ने और खौफ पैदा कर दिया है। शनिवार तक कोविड-19 कुल 156 लोगों को मौत की नींद सुला चुका है.
कांगड़ा में तीन और की जान गई
कांगड़ा-कांगड़ा जिला में शनिवार को तीन और कोविड संक्रमित जिंदगी से जंग हार गए। 45 वर्षीय महिला, 70 वर्षीय बुजुर्ग और 60 वर्षीय महिला की कोरोना से मौत हुई है। बुजुर्ग व्यक्ति कांगड़ा और दोनों महिलाएं ऊना जिले की निवासी थी। सीएमओ कांगड़ा डा. गुरदर्शन गुप्ता ने बताया कि दौलतपुर (कांगड़ा) का 70 वर्षीय यह बुजुर्ग कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद होम आइसोलेशन में था।
तबीयत बिगड़ने पर शनिवार सुबह ही इसे टांडा मेडिकल कालेज लाया गया था व इसने थोड़ी देर बाद दम तोड़ दिया। यह बुजुर्ग टाइप-टू डाइबिटिज आदि बीमारियों से भी पीडि़त था। इसके अलावा ऊना जिला के मंधवारा घनारी की कोरोना पॉज़िटिव महिला (45) 21 सितंबर को रैफर होकर टांडा पंहुची थी। वह विभिन्न बीमारियों से पीडि़त थी व शनिवार सुबह करीब पौने छह बजे महिला ने दम तोड़ दिया। वहीं, ऊना जिला के घनारी की 60 वर्षीय कोरोना संक्रमित महिला को डीसीएचसी में 25 सितंबर को भर्ती करवाया गया था। महिला को सांस लेने में दिक्कत थी और टाइप-टू डाइबिटिज रोग से भी पीडि़त थी। इस महिला ने शनिवार सुबह करीब दस बजे दम तोड़ दिया। शनिवार दोपहर तक कांगड़ा जिला में दस नए मामले भी सामने आए हैं।
ऊना की दो महिलाओं की मौत
गगरेट। कोविड-19 ने जिला ऊना में दो और लोगों को मौत की नींद सुला दिया है। गगरेट की दो महिलाएं कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं और तबीयत बिगड़ने पर एक महिला टीएमसी व दूसरी महिला डेडिकेटिड कोविड अस्पताल धर्मशाला में उपचाराधीन थीं। वहीं इन्होंने अंतिम सांस ली। जिला ऊना में कोविड-19 के चलते काल का ग्रास बनने वालों की संख्या अब बढ़कर 12 हो गई है। गगरेट के मंदवाड़ा गांव की 45 वर्षीय महिला हेपीटाइटिस-बी से पहले ही बीमार थी। उधर, जाड़ला कोयड़ी गांव में अपनी बेटी के पास आई पंजाब के फिरोजपुर की एक 60 वर्षीय महिला पॉज़िटिव पाई गई। तबीयत बिगड़ने पर इन्हें कोविड अस्पताल धर्मशाला शिफ्ट कर दिया गया, वहीं, इस महिला ने भी अंतिम सांस ली।