सिरमौर: 3 साल की मासूम को सौतेली माँ ने उतारा मौत के घाट

नाहन: हिमाचल प्रदेश के सिरमौर (Simour) जिले में में 3 साल की बच्ची के मौत (Death) मामले से पर्दा उठ गया है. 3 साल की मासूम की उसी के सौतेली माँ ने मार डाला. फिलहाल, पुलिस (Police) ने आरोपी मां को गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है. हालांकि, यह पता नहीं चल पाया है कि महिला ने इस हत्याकांड (Murder Case) को क्यों अंजाम दिया. फिलहाल, पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है.
बेटी को गलत दवा दी गई
पांवटा साहिब के कुंजा मतरालियों में चार साल की मासूम बच्ची की 3 नवम्बर को देर रात को संदिग्ध मौत हो गई थी. मौत के बाद सौतेली मां अरूणा चौहान (34) ने निजी अस्पताल के खिलाफ पुलिस में लापरवाही की शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसकी बेटी को गलत दवा दी गई और उससे बच्ची की मौत हो गई. आरोपी मां ने खुद को बचाने के लिए सारा षड़यंत्र रचा, लेकिन पुलिस जांच में बच्ची के शरीर पर गहरे चोट के निशान सामने आये थे. इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम करवाने के लिये मैडिकल कॉलेज नाहन भैजा. जहां पर टीम ने मासूम बच्ची के शव का पोस्टमार्टम किया तथा बिसरे को जांच के लिये फोरेंसिक लैब शिमला भैजा गया.
महिला ने गुस्से में बच्ची को बहुत बुरी तरह से पीटा
शुक्रवार को एसपी सिरमौर डॉक्टर खुशहाल शर्मा फोरेंसिक टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंच कर साक्ष्य जुटाये. इसमें कई चोकाने वालें साक्ष्य सामने आये. महिला का स्वभाव चिड़चिड़ा है और महिला कई बार मासूम बच्ची के साथ मारपीट करती रहती थी. मंगलवार शाम को महिला ने गुस्से में बच्ची को बहुत बुरी तरह से पीटा और जमीन पर पटक दिया. फिर पूरी रात बच्ची जमीन पर पड़ी रही. महिला मूल रूप से शिमला जिला के कुपवी से है तथा पति सैना में तैनात है. महिला का एक 11 साल का बेटा है और पांवटा साहिब के कुंजा मतरालियों में मकान बनाया हुआ है. कई सालों से पांवटा साहिब में ही रहते है. महिला ने अपने आप को बचाने के लिया निजी अस्पताल पर गलत दवाईयां देने का आरोप लगाकर पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी. लेकिन सौतेली मां अपने ही जाल में फंस गई. पुलिस की गठित एसआईटी टीम बड़ी गहनता से जांच कर रही है। और भी कई साक्ष्य जुटाये जा रहे है.