सराहां के कोविड 19 डेडिकेटेड हेल्थ केअर सेंटर में उपचाराधीन पौण्टा साहिब की महिला व उसकी सात वर्षीय बेटी दोबता पॉजिटिव पाई गई


सराहां 23 मई
। जिला सिरमौर के कोविड-19 डेडिकेटेड हेल्थ केयर सेंटर सराहां में उपचाराधीन पांवटा साहिब की महिला व उसकी सात वर्षीय बेटी दोबारा पॉजिटिव पाई गई हैं। गौरतलब है कि यह महिला 14 मई को सराहां सिविल अस्पताल में भर्ती करवाई गई थी। महिला 4 मई को दिल्ली से लौटी थी। जिसके बाद 12 मई को प्रशासन ने इसका सैंपल लेकर सीआरआई कसौली भेजा था।

13 मई की देर रात को महिला व इसकी बेटी संक्रमित पाई गई थी। जिसके बाद इन्हें 14 मई को पांवटा साहिब से सराहां शिफ्ट किया गया था। यहां इनके एक सप्ताह बाद दोबारा सैंपल लिए गए तथा उन्हें दोबारा जांच के लिए सीआरआई कसौली भेजा गया। 21 मई को लिए गए सैंपल की रिपोर्ट 22 मई देर रात को आई।

इससे पहले एहतियातन के तौर पर प्रशासन ने महिला के पति व उसके बेटे के भी सैंपल लिए थे, जो नेगेटिव पाए गए थे। जिनको आइसोलेट कर वापस घर भेज दिया गया था। मगर एक सप्ताह बाद भी महिला व उसकी बेटी में कोई सुधार नहीं हुआ तथा एक सप्ताह बाद भी उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

बीएमओ पच्छाद डॉ संदीप शर्मा ने पुष्टि करते हुए बताया कि संक्रमित महिला व उसकी बेटी की एक सप्ताह बाद भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनका उपचार डेडिकेटेड कोविड-19 हेल्थ केयर सेंटर में चल रहा है।उन्होंने बताया कि माँ बेटी दोनों की हालत अभी स्थिर है।उन्हें कड़ी निगरानी में रखा जा रहा है।जिला आयुर्वेदिक व होमियोपैथी औषधालयों के दिशा निर्देशों के मुताबिक जहाँ उन्हें विशेष प्रकार का काढ़ा दिया जा रहा है वही उनकी डाइट में हरी सब्जियां व ताजे फलों के साथ साथ मल्टीविटामिन भी दिये जा रहे है।वही छोटी बच्ची का भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है और वो उपचार के दौरान अपना समय व्यतीत करने के लिये कॉपी,पेंसिल,कलर्स इत्यादि जिस भी वस्तु की मांग करती है अस्पताल प्रशाशन द्वारा उसे पूरा करने की यथा सम्भव कोशिश की जा रही है।उन्होंने बताया कि अगले पाँच दिन के बाद दोबारा उनके सैंपल जाँच के लिये भेजे जाएंगे।स्टाफ की जानकारी देते हुए बीएमओ पच्छाद ने बताया कि इस समय तीन डॉक्टर,तीन नर्से,तीन सफाई कर्मचारी व तीन क्लास फोर कोविड केअर सेंटर में ड्यूटी पर है।