विशाखापत्तनम टेस्ट पर भारत ने मज़बूत की पकड़

भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन अपनी पकड़ मजबूत कर ली है. दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने दक्षिण अफ्रीका के तीन विकेट महज 39 रनों पर ही चटका दिए. इससे पहले भारत ने मंयक अग्रवाल के दोहरे शतक और रोहित शर्मा के शतक की मदद से अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 502 रनों पर घोषित की.

विशाखापट्टनम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट के दूसरे दिन भारत ने बिना किसी नुकसान के 202 रन से आगे खेलना शुरू किया. रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल ने शानदार बल्लेबाजी जारी रखते हुए रन बनाने का सिलसिला जारी रखा. पहले दिन के नाबाद बल्लेबाज़ मयंक अग्रवाल ने अपने करियर का पहला शतक पूरा करने में कामयाबी पाई. दूसरे छोर पर रोहित शर्मा ने 150 का आंकड़ा पार किया. दोनों की जोड़ी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत की सबसे बड़ी ओपनिंग साझेदारी का रिकॉर्ड अपने नाम किया. 317 रन की ओपनिंग साझेदारी करते हुए राहुल द्रविड़ और वीरेंद्र सहवाग का 11 साल पुराना बड़ा रिकॉर्ड तोड़ा.

भारत का पहला विकेट रोहित शर्मा के रूप में गिरा. वो 176 रन बनाकर केशव महाराज का शिकार बने. पुजारा सिर्फ 6 रन बनाकर आउट हो गए. इसके बाद कप्तान विराट कोहली भी 20 रन बनाकर आउट हो गए. अजिंक्य रहाणे 15 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. एक ओर से विकेट गिरते जा रहे थे, लेकिन दूसरा छोर मयंक अग्रवाल संभाले हुए थे. उन्होंने अपनी पहली टेस्ट सेंचुरी को दोहरे शतक में बदलने में सफलता पाई. वो 215 रन बनाकर पांचवें विकेट के रूप में आउट हुए. हनुमा विहारी 10 और साहा 21 रन बनाकर आउट हुए. जैसे ही टीम का स्कोर 500 रन के पार पहुंचा टीम इंडिया ने 7 विकेट पर 502 रन पर अपनी पारी घोषित करने का एलान कर दिया.

दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत अच्छी नहीं रही. मार्कराम को 5 रन पर अश्विन ने बोल्ड करके भारत को पहली सफलता दिलाई. अश्विन ने इसके बाद थेयनीस दे ब्रुयन को 4 रन पर विकेट के पीछे कैच कराया. अगले ओवर में जडेजा डेन पीड को शून्य पर चलता किया. दिन का खेल खत्म होने के समय अफ्रीकी टीम 39 रन पर 3 विकेट गंवाकर संघर्ष कर रही थी.