वित्‍त मंत्रालय ने उद्योग जगत, वाणिज्यिक संघों, व्‍यापार संगठनों और विशेषज्ञों से 2021-22 के वार्षिक बजट के बारे में सुझाव और प्रस्‍ताव मांगे

वित्‍त मंत्रालय ने उद्योग जगत, वाणिज्यिक संघों, व्‍यापार संगठनों और विशेषज्ञों से 2021-22 के वार्षिक बजट के बारे में सुझाव और प्रस्‍ताव मांगे हैं। वित्‍त मंत्रालय हमेशा से ही बजट पूर्व ऐसी चर्चाएं आयोजित करता रहा है। कोविड महामारी के कारण इस बार मंत्रालय को यह चर्चा दूसरे तरीके से आयोजित करने का सुझाव दिया गया है। इसे ध्‍यान में रखते हुए मंत्रालय ने विभिन्‍न संगठनों और विशेषज्ञों से बजट पर उनके सुझाव मंगाने के लिए अलग से एक ई-मेल सेवा शुरू की है।
वित्‍त मंत्रालय ने कहा है कि वह 2021-22 की बजट पूर्व चर्चा को और ज्‍यादा सहभागिता और लोकतांत्रिक तरीके से आयोजित करना चाहता है। मंत्रालय ने इसके लिए माईजीओवी प्‍लेटफार्म पर एक ऑनलाइन पोर्टल जारी किया है। इस पर इस महीने की 15 तारीख से सुझाव भेजे जा सकते हैं। सुझाव भेजने के इच्‍छुक आम लोगों को माईजीओवी पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा। इसके बाद वे अपने सुझाव भेज सकेंगे। इन सुझावों को सरकार के विभिन्‍न मंत्रालयों और विभागों द्वारा जांचा जाएगा। यदि आवश्‍यकता पड़ी तो सुझाव भेजने वालों के ई-मेल या मोबाइल नम्‍बर पर उनसे संपर्क किया जा सकता है। यह पोर्टल 30 नवम्‍बर, 2020 तक सुझाव प्राप्‍त करने के लिए खुला है।