रोहित ने अपने 200वें आईपीएल मैच में हासिल किए कई मुकाम, तोड़े कई तिलिस्म

रोहित शर्मा ने आईपीएल 2020 का अंत धमाकेदार अंदाज में किया। प्लेऑफ से पहले चोटिल होने और फॉर्म को लेकर सवालों के घेरे में खड़े रोहित ने खिताबी मुकाबले में एक बार फिर से दमदार प्रदर्शन किया और मुंबई को पांचवीं बार चैंपियन बनाने में सफल रहे। दुबई में खेले गए फाइनल मुकाबले में उन्होंने दिल्ली के खिलाफ तूफानी बल्लेबाजी करते हुए अर्धशतकीय पारी खेली। आंकड़ों के लिहाज से रोहित के लिए फाइनल मुकाबला बेहद खास बन गया। उन्होंने कई उपलब्धियां अपने नाम की। ऐसे में आइए जानते हैं रोहित की उन सभी उपलब्धियों के बारे में।

 

रोहित का 200वां आईपीएल मैच
रोहित शर्मा ने आईपीएल में 200 मैच खेलने वाले दूसरे खिलाड़ी बने। उनके अलावा चेन्नई के कप्तान धोनी (204) ही यह उपलब्धि हासिल कर पाए हैं। रोहित का मुंबई के लिए यह 155वां मैच था। उन्होंने 45 मैच डेक्कन चार्जर्स के लिए खेले हैं।

रोहित का 100 प्रतिशत रिकॉर्ड
रोहित की कप्तानी में मुंबई का यह चौथा और कुल पांचवां फाइनल था उन्होंने खिताबी मुकाबला न हारने का अपना 100 प्रतिशत रिकॉर्ड कायम रखा। रोहित के टीम का हिस्सा रहते मुंबई कभी फाइनल नहीं हारी है।

तोड़ा सम का तिलिस्म
मुंबई ने सम (इवन) वर्ष में खिताब न जीतने का तिलिस्म भी तोड़ दिया। मुंबई को 2010 के फाइनल में चेन्नई के हाथों हार मिली थी। जबकि विषम वर्ष (2013, 2015, 2017, 2019) में उसने जीत दर्ज की थी। जीत के बाद बुमराह ने कहा भी कि हम इस बार सम वर्ष में न जीत पाने का सिलसिला खत्म करना चाहते थे। हम बहुत खुश हैं। हमने इसके लिए बहुत मेहनत की। इसके लिए हमने अन्य टीमों से बहुत पहले तैयारी शुरू कर दी थी। हमें प्रत्येक दो वर्ष बाद खिताब जीतने का तिलिस्म तोड़ना चाहते थे। हमने ऐसा कर दिया।

लगातार दो खिताब जीतने वाले दूसरे कप्तान
रोहित लगातार दो बार खिताब (2019, 2020) जीतने वाले दूसरे कप्तान बन गए। उन्होंने चेन्नई के कप्तान एमएस धोनी (2010, 2011) की बराबरी की।

आईपीएल फाइनल में दो अर्धशतक
रोहित फाइनल में दो अर्धशतक लगाने वाले पहले कप्तान बने। उन्होंने 2015 में कोलकाता के खिलाफ फाइनल में 26 गेंदों पर 50 रन बनाए थे। हालांकि रोहित दो रन से किसी कप्तान के फाइनल में सर्वाधिक स्कोर के रिकॉर्ड से चूक गए। सनराइजर्स के कप्तान डेविड वॉर्नर ने 2016 में बेंगलोर के खिलाफ 69 रन बनाए थे।