मुंबई स्थित रेड जोन से कोरोना पॉजिटिव ने परिवार को भी खतरे में डाला

हिमाचल के ऊना जिले के हरोली उपमंडल में कोरोना पॉजिटिव युवक ने अपने परिवार के सदस्यों को भी खतरे में डाल दिया। युवक मुंबई स्थित रेड जोन से आया था। उसने संस्थागत क्वारंटीन से बचने के लिए होशियारी बरती जो उसके लिए महंगी पड़ गई। युवक ने मुंबई से ऊना का पास बनाने के बजाय ऑरेंज जोन में शामिल मोहाली का पास बनाया। इसके बाद मोहाली से ऊना के पास को आवेदन किया। इस तरह युवक ने अपनी जानकारी और ट्रैवल हिस्ट्री छुपाने की कोशिश की। डीसी ऊना संदीप कुमार ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि यह व्यक्ति रेड जोन मुंबई से लौटा था। उसने एक पास मोहाली से ऊना का बनवा लिया। मोहाली ऑरेंज जोन में है, इसलिए इसे होम क्वारंटीन में रखा गया था। बाद में परिवार के सदस्यों ने उस पर जांच कराने का दबाव बनाया।

व्यक्ति में कुछ फ्लू जैसे लक्षण थे, इसलिए इसे संस्थागत क्वारंटीन किया गया। अब टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद व्यक्ति ने अपने पूरे परिवार को खतरे में डाला है। उपायुक्त ने कहा कि अब संक्रमित व्यक्ति की मां, पत्नी और छोटी बच्ची को भी क्वारंटीन किया गया है। उनके सैंपल लिए जा रहे हैं। संक्रमित के साथ एक और व्यक्ति मोहाली से आया था, जिसकी पहचान कर ली गई है। उसका टेस्ट कराया जा रहा है। बाहर के प्रदेशों से आ रहे व्यक्ति सही जानकारी दें और अपने परिवार को इस तरह के खतरे में न डालें। यह सभी के लिए सही है। वहीं, पुलिस ने जानकारी छुपाने और दूसरों की जान जोखिम में डालने पर संक्रमित युवक पर एफआईआर दर्ज कर ली है।