मनाली-रोहतांग-लेह हाईवे बर्फबारी से बंद

शनिवार सुबह मौसम के करवट बदलते ही बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। रोहतांग में बर्फबारी से मनाली-लेह मार्ग पर वाहनों की आवाजाही ठप होने से अब लोगों के पास आवाजाही के लिए अब एकमात्र विकल्प रोहतांग टनल रह गया है।वहीं बागवानों की मुश्किलें और बढ़ गई है। बर्फबारी से घाटी का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। लाहौल प्रशासन ने लोगों से रोहतांग दर्रा होकर आवाजाही नहीं करने की अपील की है।

ताजा बर्फबारी होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मौसम खराब रहने से लोगों की दुश्वारियां कम नहीं हो रही हैं। बर्फबारी से लाहौल में सड़कें आवाजाही के लिए बंद हो गई हैं।
जिला प्रशासन लाहौल-स्पीति ने बीते दिन से वाहनों की आवाजाही के लिए आधिकारिक तौर पर रोहतांग दर्रा बंद कर दिया है। अब लोगों को अपने जोखिम पर दर्रा पार करना होगा। जिला प्रशासन ने 13050 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रे को पैदल पार करने वाले यात्रियों की सुरक्षा के लिए कोकसर और मढ़ी में रेस्क्यू चौकियां स्थापित कर दी हैं।

मनाली व लाहौल की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी का दौर जारी है। मनाली-लेह मार्ग पर 13050 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रा में 15 सेंटीमीटर ताजा बर्फबारी हुई है। कोकसर में 10 सेंटीमीटर, लाहौल के रिहायशी क्षेत्र सिस्सू, दारचा, जिस्पा और गोंधला में भी जमकर बर्फबारी हुई है।