भारी बर्फबारी से लकदक लाहौल की वादियों का दिखा शानदार नजारा

Fi

भारी बर्फबारी के बाद हिमाचल के जनजातीय जिले लाहौल-स्पीति में आज मौसम खुल गया है। मौसम खुलते ही बर्फ से लकदक लाहौल की वादियों का शानदार नजारा देखने को मिला।  रोहतांग दर्रा समेत ऊंची चोटियों पर बर्फ की सफेद चादर बिछी हुई है।। बर्फबारी से बंद अटल टनल के दोनों छोरों को भी जल्द बहाली का काम चल रहा है। इससे यहां सैलानी बर्फ के दीदार के लिए पहुंच सकेंगे।

 

वहीं, मौसम साफ होने से लोगों ने राहत की सांस ली है। लाहौल में हुई ताजा बर्फबारी के बाद बंद निगम की बस सेवा 24 घंटे बाद फिर से लाहौल की सड़कों पर दौड़ना शुरू होगी। मंगलवार को मौसम साफ होने पर घाटी के अंदरूनी रूटों केलांग-उदयपुर, केलांग-दारचा और केलांग-कोकसर पर बस सेवा फिर से शुरू हो गई है।

हालांकि, बीआरओ ने भी बंद पड़ी सड़कों की बहाली का काम शुरू कर दिया है।  वहीं, रोहतांग समेत पर्यटन नगरी मनाली की ऊंची चोटियों पर ताजा बर्फबारी से पर्यटन कारोबारियों के चेहरे खिल उठे हैं।

बर्फबारी से दिवाली पर मनाली में पर्यटकों के उमड़ने की उम्मीद है। अटल टनल देखने के लिए देश भर से सैलानी आ रहे हैं। ऐसे में ताजा बर्फबारी से पर्यटन कारोबार को रफ्तार मिलेगी।

बीते दिन अटल टनल रोहतांग के नॉर्थ पोर्टल, गुफा होटल, कोकसर, सिस्सू, खांगसर और गोंधला में करीब 20 सेंटीमीटर तक ताजा बर्फबारी हुई है। रोहतांग, बारालाचा पास में 45 सेंटीमीटर से अधिक बर्फ दर्ज की गई। कुंजम पास में भी 30 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की गई।

तोद घाटी के तिनो, जिस्पा, दारचा, छीका-रारिक सहित दीपक ताल और चंद्रताल में भी भारी बर्फबारी हुई। वहीं, मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने आज आठ जिलों के कुछ भागों में बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान जताया है।

 

मध्य पर्वतीय जिलों में मंगलवार को शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा और उच्च पर्वतीय जिलों किन्नौर व लाहौल-स्पीति के कुछ क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान जताया है। मैदानी जिलों बिलासपुर, हमीरपुर, कांगड़ा और ऊना में नौ नवंबर तक मौसम साफ रहने की संभावना है।