जम्मू-कश्मीर: गांदरबल जिले के तीन ओजीडब्ल्यू गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले के नुन्नर इलाके में 6 अक्तूबर को भाजपा नेता गुलाम कादिर पर हुए आतंकी हमले को अंजाम देने वाले तीन ओजीडब्ल्यू को गिरफ्तार किया है। हमले में भाजपा नेता बच गया था परंतु पुलिस कांस्टेबल मोहम्मद अलताफ शहीद हो गए थे। जबकि पुलिस ने त्राल के रहने वाले एक आतंकी शब्बीर अहमद शाह को मार गिराया था जबकि दूसरे आतंकी के घायल होने के निशान मिले थे। आतंकियों ने पाकिस्तान की मदद से इस हमले को अंजाम दिया था। इस घटना में 4 जी मोबाइल इंटरनेट के दुरुपयोग की बात भी सामने आई है।
गांदरबल के एसएसपी  खलील पोसवाल ने सोमवार को बताया कि हमले में मारे गए आतंकी के पास से हथियार और अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई थी। एसआईटी को जांच के दौरान कुछ मोबाइल नंबर मिले थे। इनके इंटरनेट प्रोटोकॉल (आईपी) विशलेषण में सामने आया था कि कुछ लोग जेंगी और कोनियन जैसी संदिग्ध एप्लिकेशन का इस्तेमाल कर रहे थे जो आम लोग नहीं करते। इसी आधार पर पुलिस ने कुछ संदिग्धों से पूछताछ की।
उन्होंने खुलासा किया कि गांदरबल के दो युवक कैसर अहमद शेख, आसिफ  और कंगन का हिलाल निजी सिक्योरिटी गार्ड हैं। इन्हें फेसबुक पर हमजा हिज्बी से चैटिंग के दौरान भाजपा नेताओं की सूची तैयार करने और रेकी का काम सौंपा गया था। हमले में मुख्य भूमिका कैसर ने निभाई। उसने भाजपा के करीब 5 टॉप कार्यकर्ताओं की सूची बनाकर पाकिस्तान को सौंपी। इसके बाद उसे आदेश मिला कि वह कुलगाम के एक सक्रिय आतंकी अबू कासिम से संपर्क करें और साजिश को अंजाम दें।