कोविड-19 के कारण जारी पूर्णबंदी में ग्रामीणों के लिए वरदान बने कॉमन सर्विस सेंटर

हमीरपुर : जिला हमीरपुर में कोरोना महामारी में पूर्णबंदी के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में बने कॉमन सर्विस सेंटर लोगों के लिए वरदान साबित हुए हैं। ग्रामीणों को पैसे की निकासी से लेकर चिकित्सकों से सलाह सहित अन्य सुविधाएं इन केंद्रों के माध्यम से उपलब्ध करवाई जा रही हैं। जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में कोरोना योद्धाओं के रूप में वीएलई (लोकमित्र संचालक) ग्रामीणों की मदद के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं।

शासन स्तर से ग्रामीणों को उन्हीं के गांवों में सरकार की ओर से मिलने वाली सुविधाएं देने के लिए कॉमन सर्विस सेंटर का उपयोग किया जा रहा है। जिले में करीब 262 कॉमन सर्विस सेंटर संचालित हैं। जनधन खाते से पैसे की निकासी हो या किसी योजना में पंजीकरण का कार्य, हर संभव सरकारी सुविधा लोगों को यह केंद्र उपलब्ध करवा रहे है।

सरकारी योजनाओं को पंजीकरण में कारगर साबित

जिला के सभी कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से सरकार की विभिन्न योजनाओं का पंजीकरण किया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान सभी वीएलई द्वारा किसान सम्मान निधि के पंजीकरण, सम्मान निधि में सुधार के लिए आवेदन, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना, प्रधानमंत्री व्यापारी मानधन योजना, प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना, बैंकिंग, उज्जवला योजना सिलेंडर बुकिंग, टेली मेडिसन, टेली लॉ, सीएससी ओलंपियाड, ग्रामीण बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा, श्रमिकों के पंजीकरण, प्रवासी लोगों के जिले में आने और बाहर जाने के लिए पंजीकरण आदि किए जा रहे हैं।

जिला में अभी तक एक लाख से अधिक लोग आरोग्य सेतु ऐप इनस्टॉल कर चुके हैं, जिनमें से सीएससी संचालकों द्वारा लगभग 45 हजार ऐप इनस्टॉल करवाए गए हैं। लॉकडाउन में करीब तीन करोड़ रुपये की निकासी की सुविधा CSC DIGIPAY, PNB, UCO, HDFC बैंक, BCA से वीएलई द्वारा उपलब्ध करवाई गई।

महज एक रूपए में चिकित्सक से वीडियो कॉल पर सलाह

टेली मेडिसिन द्वारा अब तक करीब 100 लोगों ने महज एक रुपया शुल्क देकर चिकित्सक से वीडियो कॉल के माध्यम से सलाह ली है। 50 सीएससी ई-स्टोर ग्रामीण क्षेत्रों में जरूरतमंद चीजों की होम डिलीवरी कर रहे है, ताकि लोगों को बाहर न निकलना पड़े।

सभी सीएससी केंद्रों पर बिजली बिल जमा करने की सुविधा है और लॉकडाउन में करीब सात लाख रुपये के बिल जमा किए गए। सीएससी ओलपियाड द्वारा अब तक 100 से ज्यादा बच्चों के पंजीकरण हुए, जिन्हें ऑनलाइन पढ़ाया जाएगा। ये सभी कक्षा तीन से 12वीं तक के विद्यार्थी हैं। वीएलई द्वारा पैदल आ रहे लोगों को भोजन भी उपलब्ध करवाया गया।

वाई-फाई चौपाल से तेज गति की इंटरनेट सुविधा

जिले के चार ब्लॉक बमसन, बिझड़ी, नादौन,  सुजानपुर टिहरा  में वाईफाई चौपाल के माध्यम से तेज गति का इंटरनेट उपलब्ध करवाया जा रहा है। सभी कंपनियों के रसोई गैस सिलेंडर की बुकिंग सुविधा सभी सीएससी पर उपलब्ध है। अब तक करीब 1000 से ज्यादा बुकिंग वीएलई के माध्यम से हुई है।

कॉमन सर्विस सेंटर की महिला संचालकों ने मास्क व सैनेटरी नेपकिन बना कर ग्रामीण इलाकों में वितरित किये। कॉमन सर्विस सेंटरों पर मास्क व सेनिटाइज़र सस्ते दामों पर भी उपलब्ध है। बहुत से CSC संचालकों ने अपनी-अपनी पंचायतों में सेनिटइज़ेशन का कार्य किया और लोगों को कोरोना महामारी के बारे में जागरूक किया। ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को घर द्वार पेंशन व जीवन प्रमाण पत्र बनाये गए।

क्या कहते हैं डीसी 

डीसी हरिकेश मीणा ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इन सभी सीएससी की मॉनीटरिंग लगातार की जा रही है। निर्धारित दरों पर सुविधा मिलने से लोगों को गांव से शहर से तक नहीं जाना पड़ रहा है।