कुल्लू दशहरा: उत्सव में विदेशी सांस्कृतिक दलों के साथ बॉलीवुड के स्टार गायक भी धूम मचाएंगे

आठ से 14 अक्तूबर तक मनाए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव में विदेशी सांस्कृतिक दलों के साथ बॉलीवुड के स्टार गायक भी धूम मचाएंगे। दशहरे में रूस के अलावा श्रीलंका और मलयेशिया के सांस्कृतिक दल प्रस्तुति देंगे। इसके अलावा देश के करीब एक दर्जन से अधिक सांस्कृतिक दल भी अपने राज्य की समृद्ध संस्कृति को पेश करेंगे। केरल, महाराष्ट्र, हरियाणा, राजस्थान, झारखंड, गुजरात, मध्यप्रदेश आदि राज्यों के दलों ने हामी भर दी है।
दशहरा में बाहरी कलाकारों के साथ हिमाचल के स्थानीय लोक कलाकार भी दर्शकों का मनोरंजन सात दिनों तक करते रहेंगे। उत्सव की पहली सांस्कृतिक संध्या में स्वरूप खान ने प्रस्तुति दी। जबकि, दूसरी सांस्कृतिक संध्या यानी नौ अक्तूबर को सुरेश वाडेकर, 10 को पंजाबी कलाकार निंजा,11 को ज्योतिका टांगरी व कुशल पाल, 12 को सिराज खान, 13 को सोनू निगम और 14 को हिमाचली नाइट आयोजित की जाएगी।

वहीं, 13 अक्तूबर को मुख्यमंत्री की मौजूदगी में जिलेभर से दशहरा में आने वाले सैकड़ों देवी-देवताओं के करीब 2000 बजंतरी एक साथ पारंपरिक वाद्य यंत्रों से विश्व की सुख शांति और स्वच्छता को लेकर देवधुन बजाएंगे। इसके अलावा रथ मैदान में 12 अक्तूबर को महानाटी और 13 अक्तूबर शाम चार बजे रथ मैदान में महाआरती और देर शाम सात बजे से पारंपरिक लालड़ी नृत्य होगा।

दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि दशहरा में दिनभर सांस्कृतिक दलों के बीच लोकनृत्य की प्रतियोगिता होगी। खेल प्रेमियों के लिए नौ से लेकर 11 अक्तूबर तक रथ मैदान में ग्रामीण खेलकूद होगी। इसमें महिला वर्ग की कबड्डी, रस्साकशी, पुरुष वर्ग की वॉलीबाल और कबड्डी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। उत्तर भारत वॉलीबाल प्रतियोगिता में कई राष्ट्रीय स्तर की टीमें भाग लेंगी।