किन्नौर: बारिश और बर्फ़बारी के कारण भूस्खलन से चार मकान क्षतिग्रस्त, छह में दरारें

हिमाचल के किन्नौर जिले के निचार खंड में बारिश और बर्फबारी से निगान में 10 लोगों के मकानों को नुकसान पहुंचा है। इसमें चार घरों को अधिक नुकसान पहुंचा है जबकि, छह मकानों में दरारें आई हैं। इस घटना की सूचना मिलने के बाद प्रशासन की ओर से एसडीएम भावानगर मनमोहन सिंह ने शनिवार को मौके का जायजा लिया। वहीं, स्थानीय देवी मां के मंदिर के भी भूस्खलन की चपेट में आने का खतरा बना हुआ है।

एसडीएम भावानगर मनमोहन ने बताया कि जिन चार लोगों के मकानों को अधिक खतरा बना हुआ है, उनको प्रशासन की ओर से सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट किया गया। इनमें से दो परिवार को फारेस्ट कॉलोनी और दो परिवार को आंगनबाड़ी केंद्र में शिफ्ट किया गया है। प्रशासन के मुताबिक अभी तक प्रारंभिक जांच में 30 लाख रुपये तक के नुकसान का अनुमान है।

लोगों के मकान पूरी तरह खतरे की जद में हैं। भिल्कू राम पुत्र नंद राम, शिव लाल पुत्र प्यारी चंद, देवशरण पुत्र आत्माराम और शालिग राम सभी निगानी निवासी हैं।प्रशासन की ओर से चार प्रभावित परिवारों को पांच-पांच हजार रुपये की फौरी राहत दी गई है। इसके अलावा उषा माता मंदिर को भूस्खलन की चपेट में आने से बचाने के लिए जल्द एस्टीमेट बनाकर जल्द सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे।