आठ महीने बाद बहाल हो गया कुदरती पानी का स्त्रोत, मंडी में नेषनल हाइवे पर भियूली पुल के पास हजारों लोग पीते हैं रोजाना पानी

मंडी कुल्लू मार्ग पर मंडी षहर के भियूली व्यासा पुल के पास नेषनल हाइवे पर माता भीमाकाली मंदिर के सामने सदियों से चला आ रहा कुदरती पानी का जल स्त्रोत ,नालू, जहां पर न केवल आने जाने वाले हजारों राहगीर, वाहन चालक, सवारियां व भियूली और पड्डल मुहल्लों के लोग रोजाना पानी भरते थे आठ महीने पहले अचानक बंद हो गया था।

इस जल स्त्रोत को बहाल करने के लिए कुछ लोगों ने प्रयास षुरू किए और जय दुर्गा संकीर्तन मंडल मंडी ने भी अपना योगदान किया। जय संकीर्तन दुर्गा मंडल के प्रधान अनूप मेहन ने बताया कि जब इसका जीर्णोद्वार करके इसे बहाल करने के प्रयास किए गए तो माता भीमा कामली , भगवान षिव भोला भंडारी व बड़ा देव कमरूनाग की अराधना के साथ काम षुरू किया गया जो सफल रहा व चमत्कारिक रूप से स्त्रोत के दोनों नालुओं में पानी पहले की तरह आने लग गया।

जय दुर्गा संकीर्तन मंडल के प्रेस सचिव ने लोगों से आग्रह किया कि वह अब इस चष्मे के पानी का लाभ उठा सकते हैं। राहगिरों को इससे सबसे ज्यादा राहत मिली है क्योंकि उन्हें चलते हुए यहां पर कुछ पल रूक कर घने कांगणी जंगल से होकर इसका मूल स्त्रोत आता है जो स्वास्थ्य की दृश्टि से बहुत लाभकारी माना जाता है।